जाने Ayodhya Ram Mandir Opening Date और रहस्यमय जानकारी

Ayodhya Ram Mandir Opening Date: 22 जनवरी को अयोध्या में भगवान श्री राम का प्राण प्रतिष्ठा होने वाला है, 22 जनवरी 2024 के दिन को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में सभी को दिवाली मानने को कहा है।

22 जनवरी के बारे में क्या खास है?

Ayodhya Ram Mandir Opening Date: काफी सालों से भगवान श्री राम के जन्म भूमि और बाबरी मस्जिद को लेके सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा था। इस लड़ाई में भगवान श्री राम के भक्तों की जीत हुई और सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला श्री राम के जन्म भूमि के पक्ष में सुनने और और उसके बाद मंदिर बनने का काम शुरू हो गया और 22 जनवरी 2024 को श्री राम जी के इस मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा होगा।

Ram Mandir Opening Date (Image Source: timesofindia)
Ram Mandir Opening Date

Ram Mandir Fact:

Ayodhya Ram Mandir Opening Date: जैसा कि अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर के भव्य उद्घाटन की तैयारियां शुरू हो गया है, आज हम आपको राम मंदिर के बारे में आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे है, जिन्हें आपको जानना बहुत आवश्यक है।

क्या राम मंदिर भारत का सबसे बड़ा मंदिर होने वाला है? 

Ram Mandir Opening Date: अगर आप ये  सोच रहे हैं की राम मंदिर भारत का सबसे बड़ा मंदिर होने वाला है तो आप बिलकुल सही सोच रहे है। अयोध्या में 22 जनवरी 2024 को राम मंदिर का उद्घाटन (Ram Mandir Udghatan) होने वाला है। राम मंदिर डिजाइन और संरचना के आधार पर भारत का सबसे बड़ा मंदिर बनने बन कर तैयार है। राम मंदिर के डिजाइन और संरचना के लिए 30 साल पहले ही जमींदार सोमपुरा परिवार के चंद्रकांत सोमपुरा और उनके बेटे आशीष सोमपुरा ने कर रखा था।  सोमपुरा परिवार के अनुसार, राम मंदिर लगभग 161 फीट की ऊंचाई पर खड़ा होगा, जो 28,000 वर्ग फीट के विशाल क्षेत्र को कवर करेगा।

राम मंदिर का पवित्र नींव में खास क्या है? 

राम मंदिर की नींव का अपना गहरा आध्यात्मिक महत्व है, क्योंकि इसे बनाने के लिए 2587 क्षेत्रों की पवित्र मिट्टी लाई गई थी। कुछ उल्लेखनीय स्थानों में झाँसी, बिठूरी, हल्दीघाटी, यमुनोत्री, चित्तौड़गढ़, स्वर्ण मंदिर और कई अन्य पवित्र स्थान शामिल हैं।

वास्तुकार: रिपोर्टों के अनुसार, वे प्रतिष्ठित सोमपुरा परिवार से हैं, जो प्रतिष्ठित सोमनाथ मंदिर सहित दुनिया भर में 100 से अधिक मंदिरों को तैयार करने के लिए जाने जाते हैं। मुख्य वास्तुकार चंद्रकांत सोमपुरा के नेतृत्व में और उनके बेटों आशीष और निखिल के सहयोग द्वारा बनाया जा रहा है, उन्होंने मंदिर वास्तुकला में पीढ़ियों से आगे बढ़ने वाली विरासत बनाई है।

Ayodhya Aye Mere Pyare Ram Song Lyrics | Hansraj Raghuwanshi 

लोहे या स्टील का उपयोग नहीं: कई रिपोर्टों के अनुसार, राम मंदिर को पूरी तरह से पत्थरों से बनाया गया है, और इसमें किसी भी प्रकार के स्टील या लोहे का उपयोग नहीं किया गया है।

‘श्री राम’ ईंटें: यह ध्यान रखना दिलचस्प है कि राम मंदिर के निर्माण में इस्तेमाल की गई ईंटों पर पवित्र शिलालेख में ‘श्री राम’ लिखा हुआ है। यह राम सेतु के निर्माण के दौरान एक प्राचीन प्रथा की प्रतिध्वनि है, जो इन ईंटों की आधुनिक तरीके से बना करके फिर से वहीं पुरानी याद को दाल दिया गया है। 

थाईलैंड से मिट्टी: अंतरराष्ट्रीय आध्यात्मिक सौहार्द के संकेत के रूप में, 22 जनवरी, 2024 को राम लला के अभिषेक समारोह के लिए थाईलैंड से मिट्टी लाई गई है, जो भौगोलिक सीमाओं से परे भगवान राम की विरासत की सार्वभौमिक प्रतिध्वनि को मजबूत करती है।

Shri Ram Janmbhoomi
Shri Ram Janmbhoomi (Image Source: timesofindia)

राम मंदिर की विशेष विशेषता

  • भगवान श्री राम का मंदिर तीन मंजिलों में फैला हुआ है।
  • राम मंदिर 2.7 एकड़ में फैला हुआ है
  • राम मंदिर का भूतल भगवान राम के जीवन को दर्शाता है, 
  • जबकि पहली मंजिल आगंतुकों को भगवान राम के दरबार की भव्यता में डुबो देगी, जो राजस्थान के भरतपुर के गुलाबी बलुआ पत्थर बंसी पहाड़पुर से तैयार किया गया है। 
  • राम मंदिर 360 फीट लंबा, 235 फीट चौड़ा और शिखर सहित 161 फीट की ऊंचाई तक फैला है। 
  • राम मंदिर के तीन मंजिलों और 12 द्वारों के साथ, यह खूबसूरती की भव्यता का एक राजसी का प्रमाण देता है।

पवित्र नदियों का योगदान: कुछ रिपोर्ट के अनुसार कहा गया है कि 5 अगस्त का अभिषेक समारोह पूरे भारत में 150 नदियों के पवित्र जल से किया गया था।

आने वाली पीढ़ी के लिए टाइम कैप्सूल: राम मंदिर के 2000 फीट नीचे गाड़े गए टाइम कैप्सूल में, भगवान राम और अयोध्या के बारे में प्रासंगिक जानकारी अंकित एक तांबे की प्लेट शामिल है, जो आने वाली पीढ़ियों के लिए मंदिर की पहचान की जानकारी देगा।

नागर शैली की वास्तुकला: राम मंदिर के नागर शैली में 360 स्तंभ शामिल हैं, जो इसकी दृश्य अपील को बढ़ाते हैं और इसे वास्तुकला की श्रेष्ठता और उनका महत्व बताते हैं।

Ayodhya Ram Mandir Opening Date: FAQ 

 22 जनवरी 2024 को क्या है?

22 जनवरी 2024 को अयोध्या में भगवान श्री राम का प्राण प्रतिष्ठा होने वाला है।

राम मंदिर का उद्घाटन 2024 में कब होगा?

भगवान श्री राम के मंदिर का उद्घाटन 2024 में 22 जनवरी दिन सोमवार को होगा। 

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा कब है?

अयोध्या में 22 जनवरी 2024 को भगवान श्री राम के के मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा है।

22 january 2024 ko kya hai

22 जनवरी 2024 को अयोध्या में भगवान श्री राम का प्राण प्रतिष्ठा होने वाला है।

22 जनवरी को अयोध्या में क्या है?

22 जनवरी को अयोध्या में भगवान श्री राम के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा होने वाला है।

Disclaimer: Abplive.net के इस आर्टिकल में इस्तेमाल किया गया सारा फोटो economictimes.indiatimes.com से लिया गया है। इस ब्लॉग में यूज़ फोटो का पूरा क्रेडिट फोटो के ओरिजिनल ओनर को दिया जाता है।

Leave a Comment